देशभर में ऐसे 25 हजार स्वयंसेवक होंगे

127

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”इस समाचार को सुने”]

एस0 पी0 मित्तल

दो वर्ष तक संघ के प्रति पूर्ण रूप से समर्पित रहने वाले स्वयंसेवकों का चयन होगा। देशभर में ऐसे 25 हजार स्वयंसेवक होंगे।वर्ष 2025 में स्थापना के 100 साल पूरे होने पर देश के हर गांव ढाणी में शाखा का लक्ष्य।जैविक कृषि और पैकेजिंग की नई तकनीक से रोजगार के अवसर पर उपलब्ध करवाएंगे।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के चित्तौड़ प्रांत के संघ चालक एडवोकेट जगदीश राणा ने बताया कि वर्ष 2025 में संघ की स्थापना के 100 वर्ष पूरे होने जा रहे हैं। संघ का लक्ष्य है कि 100 वर्ष होने तक देश के प्रत्येक गांव में संघ की शाखा लगे। यदि किन्हीं कारणों से शाखा नहीं लग सके तो संघ के स्वयंसेवक या फिर संपर्क सूत्र आवश्यक हों। इस देशव्यापी कार्य के लिए 25 हजार स्वयंसेवकों का चयन किया जा रहा है जो अगले दो वर्ष तक पूरी तरह संघ के प्रति समर्पित होंगे। यानी 730 दिन संघ से जुड़े कार्य ही करने होंगे। ऐसे स्वयं सेवकों को दूसरे शहरों या ग्रामीण क्षेत्रों में भी रहने पड़ेगा। राणा ने कहा कि संघ में ऐसे स्वयं सेवकों की कमी नहीं है। अनेक स्वयंसेवक स्वेच्छा से समर्पण भाव दिखा रहे हैं। वर्ष 2025 में संघ का 100वां स्थापना दिवस मनाने को लेकर विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार सृजन करना भी है ताकि ग्रामीणों को शहरों की ओर पलायन नहीं करना पड़े। इसके लिए जीरों खर्च वाली प्राकृतिक और जैविक खेती पर जोर दिया जा रहा है। प्राकृतिक और जैविक खेती में गौ माता की महत्वपूर्ण भूमिका है। यदि गौ माता को केंद्र बिंदु बनाकर खेती की जाए तो गौ माता के संरक्षण के साथ साथ कृषि उपजों की लागत भी नहीं के बराबर आएगी।

गौ माता का गोबर ही नहीं बल्कि मूत्र भी खेती में बहुत लाभकारी होता है। किसान प्राकृतिक और जैविक खेती की ओर कैसे आकर्षित हो इसके लिए संघ के कार्यकर्ता एक बड़ा अभियान चला रहे हैं। जीरो खर्च वाली खेती के साथ साथ किसानों को कृषि उत्पादों की पैकेजिंग के बारे में भी जानकारी दी जाएगी। पैकेजिंग का अब बहुत बड़ा बाजार हो गया है। गांव के युवा को जब कृषि और पैकेजिंग के कार्य पर गांव में ही रोजगार मिलेगा तो उसे शहरों की ओर पलायन नहीं करना पड़ेगा। सरकारों ने भी ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार बढ़ाने के लिए अनेक कल्याणकारी योजनाएं चला रखी हैं। संघ यह सुनिश्चित करेगा कि ऐसी योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्ति को मिले। एडवोकेट राणा ने बताया कि संघ के स्वयं सेवक समाज के विभिन्न क्षेत्रों में सक्रिय हैं। ऐसे सामाजिक कार्यों से आम नागरिक भी जुड़ सकते हैं। इसके लिए निकटतम शाखा या संघ के कार्यालय में संपर्क किया जा सकता है। संघ के ऐसे विचारों को लेकर 15 फरवरी को अजमेर कार्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई। इस कॉन्फ्रेंस में प्रांत संघ चालक एडवोकेट जगदीश राणा के साथ साथ संघ के प्रांत प्रचार प्रमुख राजेंद्र लालवानी, विभाग प्रचार प्रमुख भूपेंद्र उबाणा आदि भी उपस्थित रहे। [/Responsivevoice]