उत्तर प्रदेश में लगातार अपराधों में प्रतिदिन बढ़ोत्तरी Continuous increase in crimes in Uttar Pradesh every day

132

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रांतीय अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने उत्तर प्रदेश में लगातार अपराधों में दिन प्रतिदिन बढ़ोत्तरी पर चिन्ता जाहिर करते हुए कहा कि आए दिन प्रदेश में अपराधी किसी न किसी प्रकार की घटना को अंजाम दे रहे हैं। समाज में महिलाओं के प्रति अपराधों ने तो झड़ी ही लगा दी है। प्रदेश की राजधानी में बीते एक सप्ताह में दिन दहाडे़ 4 बलात्कार की घटनायें, जनपद आजम़गढ, सुल्तानपुर, लखीमपुर, अम्बेड़करनगर, एवं गाजियाबाद में गैंगरेप की घटनाओं ने उत्तर प्रदेश वािसयों को झकझोर कर रख दिया। अब तो राजधानी में पार्क भी सुरक्षित नहीं है जहां महिलाएं सुबह शाम टहलती हैं जबकि पार्कों के बगल में ही पुलिस चौकियां भी हैं उसके बावजूद भी रेप जैसे जघन्य अपराधों को अपराधी अंजाम देने में सफल हैं। जबकि चुनाव पूर्व देश के गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तर प्रदेश में आकर कहा था कि उत्तर प्रदेश में महिलायें रात के 12 बजे घर से बाहर सुरक्षित निकल सकती हैं।

श्री सिद्दीकी ने आगे कहा कि प्रदेश में  अपराधी खुलेआम अपराधों को अंजाम दे रहे हैं जिसको देखकर लगता है कि प्रदेश में जंगलराज कायम हो चुका है। प्रदेश के विभिन्न जनपदों में आए दिन महिलाओं से जुड़ी अपराध की घटनाये उजागर हो रही है। प्रदेश की योगी सरकार कानून व्यवस्था के नाम पर सिर्फ ढिंढोरा पीट रही है।  अपराधियों एवं माफियाओं ने कानून-व्यवस्था को ध्वस्त कर दिया है, पीड़ित व पीड़ित महिलायें अपराधियों के खौफ की वजह से थाने में रिपोर्ट लिखवाने से भी डरती हैं और अगर हिम्मत करके थाने जाती भी हैं तो बिना एफआईआर दर्ज किये थाने से वापस लौटा दिया जाता है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी कहते है कि उ0प्र0 मे अपराध कम हुए हैं  और प्रदेश का विकास हो रहा है। जबकि राजधानी लखनऊ में पिछले एक सप्ताह में दिन दहाड़े 4 बलात्कार की उत्तर प्रदेश की जमीनी हकीकत को बयां कर रही हैं और उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था का सच दिखा रही हैं। एनसीआरबी की रिपोर्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश अपराध के मामलों में नंबर एक है और यह सच साबित हो गया है। मुख्यमंत्री योगी ग्लोबल ईन्वेस्टर समिट के लिए अमेरिका में रोड़ शो करने जा रहे हैं मगर उ0प्र0 कानून व्यवस्था को दुरूस्त किये बिना और अपराध पर लगाम लगाये बिना किसी विदेशी निवेशक को उ0प्र0 में कैसे लायेंगे यह यक्ष प्रश्न है।