राज्य कर्मचारी को कैशलेस चिकित्सा

109
राज्य कर्मचारी को कैशलेस चिकित्सा
राज्य कर्मचारी को कैशलेस चिकित्सा

पंडित दीनदयाल उपाध्याय राज्य कर्मचारी कैशलेस चिकित्सा योजना के तहत सचिवालय कर्मियों के हेल्थ कार्ड बनाने हेतु लोक भवन में लगाया गया कैंप। राज्य कर्मचारी को कैशलेस चिकित्सा

लखनऊ। पंडित दीनदयाल उपाध्याय राज्य कर्मचारी कैशलेस चिकित्सा योजना के तहत सचिवालय कर्मियों के हेल्थ कार्ड बनाने हेतु साचीज द्वारा लोक भवन में कैंप लगाया गया और साचीज, लखनऊ की तकनीकी टीम द्वारा लाभार्थियों के कार्ड बनाए गए।कैंप के निरीक्षण के दौरान मुख्य सचिव के स्टॉफ ऑफिसर रवीन्द्र कुमार ने सचिवालय कर्मियों से इस कैंप का लाभ लेने की अपील करते हुए कहा कि सचिवालय कर्मियों की सुविधा के लिये सचिवालय में कैंप लगवाया गया है। उन्होंने कहा कि कैंप में कैशलेस स्वास्थ्य कार्ड बनवाकर योजना का लाभ उठायें।

उन्होंने कहा कि उ0प्र0 सरकार द्वारा संचालित पं0 दीनदयाल उपाध्याय राज्य कर्मचारी कैशलेस चिकित्सा योजना के अन्तर्गत उ0प्र0 राज्य के सरकारी सेवकों तथा सेवानिवृत्त सरकारी सेवकों एवं उनके आश्रितों को कैशलेस चिकित्सीय सुविधा प्रदान किये जाने का प्रावधान है। यह सुविधा आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अन्तर्गत आबद्ध समस्त निजी चिकित्सालयों तथा उ0प्र0 राज्य के सरकारी चिकित्सालयों में उपलब्ध है। निजी आबद्ध चिकित्सालयों में प्रत्येक लाभार्थी परिवार को प्रतिवर्ष रूपये-पाँच लाख तक की कैशलेस चिकित्सा उपलब्ध है, जबकि उ0प्र0 राज्य के सरकारी चिकित्सा संस्थानों/चिकित्सालयों में बिना किसी वित्तीय सीमा के कैशलेस चिकित्सा उपलब्ध है।

उत्तर प्रदेश के 5 हजार से अधिक (निजी एवं सरकारी) चिकित्सालय जो कि आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से आबद्ध है वह स्वतः ही पंडित दीनदयाल उपाध्याय राज्य कर्मचारी कैशलेस चिकित्सा योजना से भी आबद्ध है, जहाँ योजना के लाभार्थी चिकित्सीय लाभ प्राप्त कर सकते हैं। वर्तमान में योजनान्तर्गत अभी तक 30000 से अधिक लाभार्थी निजी एवं सरकारी चिकित्सालयों में योजना का लाभ ले चुके हैं। योजना सम्बन्धी विस्तृत जानकारी योजना के वेबसाइट sects.up.gov.in पर उपलब्ध है। इस अवसर पर अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी साचीज डा0 पूजा यादव भी उपस्थित थीं। राज्य कर्मचारी को कैशलेस चिकित्सा