टाटा इंस्टीट्यूट आफ सोशल साइंस मुंबई के बीच एमओयू

93
टाटा इंस्टीट्यूट आफ सोशल साइंस मुंबई के बीच एमओयू
टाटा इंस्टीट्यूट आफ सोशल साइंस मुंबई के बीच एमओयू

यूपीएसआईएफएस को विश्व स्तरीय संस्थान बनाने का प्रयास l टाटा इंस्टीट्यूट आफ सोशल साइंस मुंबई के बीच एमओयू l एमओयू से न्यायिक विषयों पर शोध कार्य को और अधिक बढ़ावा मिलेगा l


लखनऊ। यूपीएसआईएफएस संस्थान को विश्व स्तरीय संस्थान बनाने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से प्राप्त निर्देशों के क्रम में गुरुवार को यूपी स्टेट इंस्टिट्यूट ऑफ फरेंसिक साइन्स लखनऊ के अपर पुलिस महानिदेशक एवं निदेशक डॉ जीके गोस्वामी (आईपीएस) ने मुंबई में यूपीएसआईएफएस तथा टाटा इंस्टीट्यूट आफ सोशल साइंस मुंबई के बीच एमओयू हस्ताक्षरित कियाl संस्थान के निदेशक डॉ0 गोस्वामी ने बताया कि इस महत्वपूर्ण एमओयू से दोनों संस्थानो के बीच रिसर्च मेथ्रोलॉजी के साथ-साथ विभिन्न सामाजिक तथा न्यायिक विषयों पर शोध कार्य को और अधिक बढ़ावा मिलेगा तथा दोनों संस्थाओं के प्राध्यापक एवं छात्र एक दूसरे संस्थानों से सहयोग कर शिक्षा के क्षेत्र में नए कीर्तिमान स्थापित कर सकेंगेl इसके साथ-साथ यूपीएससीएफएस द्वारा तैयार किए गए नये क्षेत्र कम्युनिटी फॉरेंसिक के भी माध्यम से आम जनमानस को फॉरेंसिक साइंस का लाभ तथा उपयोग से अवगत कराने में अवश्य मदद मिलेगी। जिससे आम जनता का विश्वास न्यायिक व्यवस्था पर और अधिक बेहतर हो सकेगा l


डॉ0 गोस्वामी ने बताया कि यूपीएसआईएफएस का किसी महत्वपूर्ण संस्थान से यह पहला एमओयू है l संस्थान को और अधिक गति और ऊंचाई देने के लिए भविष्य में आईआईटी कानपुर, आईआईटी दिल्ली, आईआईटीआर लखनऊ, ट्रिपल आईटीएम लखनऊ तथा आईआईएम जैसे संस्थानों से भी एमओयू प्रस्तावित किए जाएंगे l आज मुंबई में हुए इस एमओयू से टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ सोशल साइंस मुंबई के रिसर्च सहित अन्य विषयों के अनुभवों लाभ यूपीएसआईएफएस संस्थान से जुड़े छात्र एवं प्राध्यापक सकेंगे एवं आगे की दिशा में रिसर्च कार्य को बढ़ावा दे सकेंगेl संस्थान के निदेशक गोस्वामी ने बताया कि इस अवसर पर टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ मुंबई के वाइस चांसलर प्रोफेसर मनोज कुमार तिवारी के साथ प्रोफेसर अरविंद तिवारी, प्रोफेसर अश्वनी कुमार एवं रजिस्ट्रार नरेंद्र मिश्रा उपस्थित रहेl