हंसी उत्तम औषधि है

43
हंसी उत्तम औषधि है
हंसी उत्तम औषधि है

जीवन में सबसे महत्वपूर्ण है संयम और मन की शान्ति। क्योंकि यदि मन शान्त होगा तब आप हर समस्या का आसानी से हल ढूंढ पाओगे । ओर जब आपमें संयम रहेगा तब आप किसी भी परिस्थिति में अपने मार्ग से विचलित नही होओगे। संयम होने पर मनुष्य बड़ी से बड़ी गलती करने से बच जाता है। हंसी उत्तम औषधि है

ब्यूरो निष्पक्ष दस्तक

जीवन में हंसी का बहुत महत्व है।आपने यह कहावत तो सुनी ही होगी, “हंसी उत्तम औषधि है।”हसने के वजह से हमारा मन हल्का होता है।इससे हमें आनंद मिलता है। हंसी के कई फायदे हैं।हसने की वजह से हम अपने दुख भूल जाते है, इससे हमारे स्वास्थ्य में सुधार आता है, तनाव से राहत मिलती है और हमारे विचार सकारात्मक बनते है। हंसना हमारे हृदय के लिए अच्छा है,इससे हमारे रक्त वाहिकाओं के माध्यम से होनेवाले रक्त परिसंचरण में सुधार आता है। हंसी हमारे भय और दर्द को कम करती है।इसीलिए हम सभी ने हंसते खेलते रहना चाहिए।

जीवन एक सुंदर यात्रा है, जिसमें हम कई रंगीन और चुनौतीभरे पलों को जीते हैं। इस सफलता और चुनौतियों के बीच, हंसी एक ऐसी महत्वपूर्ण शक्ति है जो हमें तनाव से राहत देती है और हमारे मन को सकारात्मक बनाती है। हँसना अनिवार्य नहीं है, लेकिन जीवन को सुंदर बनाने के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है। हँसना एक ऐसा स्वाभाविक और मनोरंजक गतिविधि है जिससे हमारे जीवन का माहौल खुशनुमा और सकारात्मक बनता है। हर किसी के जीवन में कभी न कभी कोई न कोई तनाव, परेशानी और चिंता तो आती ही है, और इससे बचने का सबसे आसान और अच्छा उपाय है हँसना। हँसना सिर्फ मनोरंजन नहीं है, बल्कि यह हमारे शारीरिक, मानसिक और सामाजिक स्वास्थ्य को भी बेहतर बनाता है।

हंसी एक अच्छा स्वस्थ व्यायाम है जो दिल को मजबूत करता है और श्वसन प्रणाली को सुधारता है। तनाव को कम करना: हंसी तनाव को कम करती है जो एक स्वस्थ मन और शरीर के लिए बहुत आवश्यक हैहंसना अपने आप में एक गुण है जो सभी विपरीत परिस्थितियों को नजरअंदाज करने खुश रहने और आगे बढ़ने की प्रेरणा देता हैलाफ्टर एक थेरेपी ही तो है जो आपकी सारी बीमारियों रूपी तकलीफों को छोटा कर देती है और जीवन को ख़ुशी से जीने की चाहत को बहुत बड़ा बना देती है। हँसने से आपका तनाव, अवसाद, उदासी निराशा, एकाकीपन आदि कम होती है।

हँसमुख व्यक्ति जीवन में आने वाली चुनौतियों का मुकावला हँसते हसते कर लेता है।हँसने से व्यक्ति के मानसिक स्तर की मजबूती के साथ ही आत्मविश्वास भी वढ़ता है।हँसने से शरीर में निकलने वाला एंडोर्फिन हार्मोन डिप्रेशन,चिन्ता,अवसाद,व चिड़चिड़ेपन से निजात तो दिलाता ही है यह आपके दुःख को भी वहुत कम कर देता है।हँसने का एक लाभ यह भी है कि यह ब्लड प्रेसर को भी नियंत्रित करता है।हँसना शरीर के श्वसन तंत्र,पेट,पीठ व चहरे की मांसपैसियों को चुस्त दुरुस्त करने बाला वढ़िया व्यायाम है।हँसने से शरीर में रक्त संचरण सामान्य होने के साथ ही एब्डॉमिनल मसल्स की एक्सरसाइज भी होती है। हँसी चेहरे पर उम्र का प्रभाव कम करने में भी सहायक है। विशेषज्ञानुसार; नियमित हँसने से हार्ट अटैक का खतरा भी कम हो जाता है। इसलिए दिनचर्या में प्रतिदिन 15 मिनट हँसना भी शामिल करना चाहिये।यह भरपूर मात्रा में कैलोरी खर्च करने वाला व्यायाम होने के कारण मधुमेह के रोगियों को भी वहुत लाभ पहुँचाता है।इससे मोटापा भी दूर होता है।हँसना जीवन की नीरसता,एकाकीपन,थकान,मानसिक तनाव और शारीरिक दर्दों को भी दूर करने में सहायक है।हँसमुख व्यक्ति अवसाद,मानसिक तनाव,अनिद्रा व नकारात्मक सोच से बचा रह सकता है। हंसी उत्तम औषधि है