IIT मद्रास फैकल्टी अब वाराणसी में

382
IIT मद्रास फैकल्टी अब वाराणसी में
IIT मद्रास फैकल्टी अब वाराणसी में

वाराणसी के सरकारी स्कूल के बच्चों को पढ़ाएंगे आईआईटी मद्रास के शिक्षक। आईआईटी मद्रास व बेसिक शिक्षा कार्यालय के बीच हुआ करार। प्रोजेक्ट विद्या शक्ति के तहत वाराणसी के 100 स्कूलों में शुरू होगी ऑनलाइन क्लास। क्लास 6 से 8 तक के विद्यार्थियों को गणित, विज्ञान और इंग्लिश पढ़ाएंगे आईआईटी के शिक्षक। प्रोजेक्ट विद्या शक्ति के माध्यम से 100 लोगों को मिलेगा रोजगार। IIT मद्रास फैकल्टी अब वाराणसी में

वाराणसी। आईआईटी मद्रास की फैकल्टी अब वाराणसी के सरकारी स्कूल के बच्चों को भी पढ़ाएंगे। आईआईटी मद्रास व बेसिक शिक्षा कार्यालय के बीच “प्रोजेक्ट विद्या शक्ति” को लेकर एक करार हुआ है, जिसमें वाराणसी के सरकारी स्मार्ट स्कूल में आईआईटी मद्रास के शिक्षक ऑनलाइन पढ़ाएंगे। पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर वाराणसी के 100 स्कूलों में ऑनलाइन क्लास शुरू होगी। इस प्रोजेक्ट के तहत बच्चों को गणित, विज्ञान और अंग्रेजी विषय पढ़ाया जाएगा, जिससे सौ लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

READ MORE-2.5 करोड़ स्मार्ट प्रीपेड मीटर का इंस्टालेशन

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सरकारी स्कूलों को कान्वेंट स्कूलों के टक्कर में लाकर खड़ा करने के प्रयास में जुटी हुई है। सरकारी स्कूलों का कायाकल्प करते हुए योगी सरकार ने पहले स्कूलों के भवनों को ठीक कराया और फिर स्कूलों को स्मार्ट बनवा रही है। अब ज्यादतार स्कूलों में स्मार्ट क्लास बन गये हैं। बेसिक शिक्षा अधिकारी अरविन्द पाठक ने बताया कि आईआईटी मद्रास से एक कॉन्ट्रैक्ट हुआ है, जिसमें वाराणसी के सरकारी स्कूलों के क्लास 6 से 8 तक के विद्यार्थियों को आईआईटी के शिक्षक पढ़ाएंगे। सभी क्लासेज़ स्कूल के समय के बाद ऑनलाइन चलेंगी।

बीएसए ने बताया कि वाराणसी में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर 100 स्कूलों में ऑनलाइन क्लास जल्द शुरू होगी। वाराणसी के चयनित स्कूलों में 70 स्मार्ट क्लास हो चूके हैं। 30 स्कूलों को जल्द आईआईटी मद्रास के माध्यम से स्मार्ट बनाया जाएगा। आईआईटी मद्रास “प्रोजेक्ट विद्या शक्ति” के लिए हर स्कूल में टेक्निकल सपोर्ट के लिए एक कोऑर्डिनेटर रखेगा, जो स्थानीय ही होगा। इससे 100 लोगों को रोजगार भी मिलेगा। इसका खर्च आईआईटी मद्रास वहन करेगा। IIT मद्रास फैकल्टी अब वाराणसी में