भाजपा ने किसानों और नौजवानों को धोखा दिया

38
भाजपा ने किसानों और नौजवानों को धोखा दिया
भाजपा ने किसानों और नौजवानों को धोखा दिया

   राजेन्द्र चौधरी

 आज भी अखिलेश यादव से भेंट करने वालों का क्रम आज भी जारी रहा। बड़ी संख्या में विभिन्न जनपदों से आए कार्यकर्ताओं, विधायकों, पूर्व मंत्रियों, पूर्व विधायकों तथा पदाधिकारियों ने श्री अखिलेश यादव को लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी की ऐतिहासिक जीत पर बधाई दी। अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी के राज्य मुख्यालय लखनऊ के डॉ0 राममनोहर लोहिया सभागार में अपने सम्बोधन में सर्वप्रथम सभी को लोकसभा चुनावों में सहयोग और समर्थन देने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता ने इस चुनाव में समाजवादी पार्टी को देश की तीसरी सबसे बड़ी पार्टी बनाया है। भाजपा ने किसानों और नौजवानों को धोखा दिया

लोकतंत्र सबसे बड़ी ताकत है। भाजपा ने कभी भी इसका सम्मान नहीं किया। भाजपा ने किसानों और नौजवानों को धोखा दिया है। वादा किया पर किसानों की आय दोगुनी नहीं हुई। नौजवानों की एक तिहाई जिंदगी बेकार हो गई है। रोटी-रोजगार की कोई व्यवस्था नहीं है। तमाम हो-हल्ले के बावजूद निवेश के नाम पर फूटी कौड़ी नहीं आई। देश में विकासकार्यों के लिए समाजवादियों की प्रशंसा हो रही है। अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी सामाजिक न्याय की पक्षधर है। भाजपा सामाजिक सद्भाव की विरोधी है। संविधान बचाने की लड़ाई जारी है। भाजपा ने चुनावों में बड़े पैमाने पर धांधली की है। वह ज्यादती करने में अभी भी कोई कसर नहीं छोड़ रही है। जनादेश ने लोकतंत्र के पक्ष में फैसला किया है। इस जीत को बचाए रखना है। भाजपा के नेता करवट बदल-बदल कर रात काटते हैं। उनकी नींदे उड़ी हुई है।

उत्तर प्रदेश में पुलिस विभाग के कुछ पदों पर आउटसोर्सिंग से भर्ती के लिए जारी सर्कुलर को लेकर अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर हमला बोला है। उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार ने ‘पुलिस व्यवस्था’ के प्रति लापरवाही भरा नज़रिया अपना रखा है, जिसकी वजह से अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। अखिलेश यादव ने सोशल मीडिया एक्स पर पोस्ट कर लिखा कि एक-के-बाद-एक कार्यवाहक डीजीपी के बाद अब कुछ ‘पुलिस सेवाओं की आउटसोर्सिंग’ पर विचार किया जा रहा है। ठेके पर पुलिस होगी तो, न ही उसकी कोई जवाबदेही होगी, न ही गोपनीय और संवेदनशील सूचनाओं को बाहर जाने से रोका जा सकेगा। भाजपा सरकार जवाब दे कि जब पुलिस का अपना भर्ती बोर्ड है तो बाक़ायदा सीधी स्थायी नियुक्ति से सरकार भाग क्यों रही है?

अखिलेश यादव ने कहा कि पुलिस सेवा में भर्ती के इच्छुक युवाओं की ये आशंका है कि इसके पीछे आउटसोर्सिंग का माध्यम बनने वाली कंपनियों से ‘काम के बदले पैसा’ लेने की योजना हो सकती है क्योंकि सरकारी विभाग से तो इस तरह पिछले दरवाज़े से ‘पैसा वसूली’ संभव नहीं है। अपने आरोप के आधार के रूप में वो कोरोना वैक्सीन बनाने वाली प्राइवेट कंपनी का उदाहरण दे रहे हैं, जिसे भाजपा ने नियम विरूद्ध जाते हुए, वैक्सीन बनाने वाली एक सरकारी कंपनी के होते हुए भी, वैक्सीन बनाने का ठेका दिया और उससे चंदा वसूली की। पुलिस भर्ती परीक्षा के पेपर लीक से आक्रोशित युवाओं में इस तरह की ‘पुलिस सेवा की आउटसोर्सिंग’ की ख़बर से और भी उबाल आ गया है। आउटसोर्सिंग का ये विचार तत्काल त्यागा जाए और उप्र के युवाओं को नियमित, निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से सीधी नियुक्ति प्रक्रिया के माध्यम से नौकरी दी जाए। भाजपा कहीं किसी दिन सरकार को ही आउटसोर्स न कर दे। केंद्र की भाजपा सरकार ने सेना की भर्ती में नौजवानों का भविष्य अग्निवीर योजना को लाकर बर्बाद कर दिया है। पुलिस विभाग पर है। इस सरकार की नीयत ठीक नहीं है। यह नौजवानों को धोखा दे रही है।

    आज की बैठक में यश भारती से सम्मानित आल्हा सम्राट वंश गोपाल यादव, प्रत्याशी डुमरियागंज कुशल तिवारी, प्रत्याशी गोरखपुर काजल निषाद, पूर्व मेयर मेरठ सुनीता वर्मा, राष्ट्रीय अध्यक्ष समाजवादी महिला सभा जूही सिंह एवं मीनाक्षी अग्रवाल के अतिरिक्त जावेद अली सांसद, पप्पू निषाद सांसद, राम यादव करेली पूर्व मंत्री सहित विधायक दुर्गा यादव, महेन्द्र यादव, कमलाकांत राजभर, रूमी हसन, नवाब इकबाल, कमाल अख्तर, अताउर्रहमान, लकी यादव, योगेश प्रताप सिंह, शाहिद मंजूर, पूर्व विधायक योगेश वर्मा, उदयवीर सिंह, सुभाष श्रीवास्तव, राकेश गुड्डू, अनवर आरिफ हाशमी, तोताराम तथा शांति देवी, ज्योत्सना सिंह, राहुल सिंह, चंद्रदेव, दीपू जेएनयू, खोखा सिंह, राम सागर यादव, अपर्णा जैन, सिकन्दर यादव, हैदर अब्बास एडवोकेट, संजय सविता विद्यार्थी आदि प्रमुख नेता एवं कायकर्ता शामिल रहे। भाजपा ने किसानों और नौजवानों को धोखा दिया