सड़क एवं कामकाजी बच्चों ने जाना योग का महत्व

27
सड़क एवं कामकाजी बच्चों ने जाना योग का महत्व
सड़क एवं कामकाजी बच्चों ने जाना योग का महत्व

लखनऊ। सामाजिक संस्था चेतना सड़क एवं कामकाजी बच्चों की शिक्षा और उनके कल्याण के के लिए काम करती है ,इसी क्रम में आज गुरुग्राम में चेतना संस्था द्वारा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया ,जंहा एक तरफ पूरा उत्तर भारत लू और बढ़ते तापमान ने जूझ रहा है वही दिल्ली एनसीआर में दिनप्रतिदिन प्रदूषण बढ़ रहा है ,ऐसे में योग को ऐसा विकल्प मानकर बच्चो को जागरूक किया गया कि जिससे बच्चे मानसिक तनाव से उबर सके क्योकि देखा जा रहा है। जुग्गी झोपड़ियों में बच्चे अकेले रहते है इसके साथ ही साथ उनके पास पर्यापत संशाधन भी नहीं है इससे सड़क एव काम काजी बच्चे प्रभावित होते है इसके साथ साथ ये भी देखा गया है कही बच्चे तो नशे की तरफ रुख कर गए है। सड़क एवं कामकाजी बच्चों ने जाना योग का महत्व

प्रोजेक्ट कोऑर्डिनेटर राजेंद्र कुमार ने बताया गुरुग्राम में जंहा जंहा पर चेतना द्वारा बच्चों के लिए शिक्षा के केन्द्र (कॉन्टेक्ट पॉइंट) चलाये जा रहे है उन उन एरिया में जा कर चेतना के कार्यकर्ताओं ने बच्चों को योग करने के लिए प्रेरित किया , साथ ही कोई बच्चा नशे की लत की तरफ न बढ़े इसके लिए मानसिक रूप से उसे मजबूत करने के लिए योग की बहुत सारी क्रियाएं भी बताई गई । योग करने के बाद बहुत सारे बच्चो ने मानसिक रूप से अपने आप को सहज महसूस किया और फिर इस योग को अनेको माध्यम से प्रदर्शित भी किया जिसमें छोटे छोटे स्केच ,कार्टून ,स्लोगन आदि रहे ।

इस अवसर पर गोगा कॉलोनी बधशाहपुर से सुधा (परिवर्तित नाम) ने बताया की योगा करने से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है और पूरे दिन शरीर में फुर्ती बनी रहती है। घाटागॉव से गीता और किशन (परिवर्तित नाम) ने बताया योग हमारे लिए बहुत जरूरी है इससे हमें शक्ति मिलती है और सुबह इसे करने से पूरा दिन शरीर मे ताजग़ी रहती है। वज़ीराबाद से उस्मान (परिवर्तित नाम) ने बताया कि योगा करने से हमारी मासपेशियां मजबूत होती हैं, रूही(परिवर्तित नाम) ने बताया योगा करने से मानसिक एवं शारीरिक विकास होता हैं और चक्करपुर प्रीति (परिवर्तित नाम) ने बताया कि योग हममें. बिमारियों से लड़ने की क्षमता देता हैं इसके द्वारा हम प्रदुषण के होने बाले प्रभावों से बच सकते हैं।

चेतना संस्था के निदेशक संजय गुप्ता ने बताया कि जहां सरकार सभी लोगों योग के प्रति जागरूक कर रही है ताकि लोग शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रह सके ऐसे बहुत सारे रोग है जिनका लगातार योग करने से निवारण हो जाता है या फिर वह रोग नहीं होते ,साथ ही व्यक्ति शारीरिक रूप से मजबूत होता है ,ऐसे में मानसिक रूप से कमजोर हो रहे बच्चों के लिए यह बहुत ही लाभदायक और मजबूत विकल्प है इसलिए आज विश्व योग दिवस पर व्यापक रूप से बच्चों को जागरूक कर योग करने के लिए प्रेरित किया गया अब कोशिश यही रहेगी कि न सिर्फ आज बल्कि यह बच्चों की प्रतिदिन की दिनचर्या का हिस्सा हो । इस कार्यक्रम में चेतना संस्था के सुवरोजित दास, आवेग वर्मा,रजनी देवी,कोमल शर्मा,ममता जयवीर, मनीष, मिनाक्षी और सोनू उपस्थित रहे। सड़क एवं कामकाजी बच्चों ने जाना योग का महत्व