हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में कराएं कैंसर की स्क्रीनिंग-उपमुख्यमंत्री

102
पीएचसी व सीएचसी पर डिस्प्ले बोर्ड लगाए जाएं और प्रतिदिन उपस्थित चिकित्सकों का ब्यौरा उन पर लिखा जाए। उन्होंने हेल्थ वेलनेस सेंटर व संजीवनी एप के
पीएचसी व सीएचसी पर डिस्प्ले बोर्ड लगाए जाएं और प्रतिदिन उपस्थित चिकित्सकों का ब्यौरा उन पर लिखा जाए। उन्होंने हेल्थ वेलनेस सेंटर व संजीवनी एप के

हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में कराएं कैंसर की स्क्रीनिंग। स्तन, सर्वाइकल और मुंह के कैंसर के प्रारम्भिक लक्षणों की पहचान मुमकिन। उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक बोले, समय पर पहचान से कैंसर को हराना संभव।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कैंसर की स्क्रीनिंग, जांच और इलाज आसान हो गया है। हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में भी महिला व पुरुष कैंसर की स्क्रीनिंग करा सकते हैं। समय पर स्क्रीनिंग, जांच और इलाज से बीमारी से काफी हद तक निपटा जा सकता है।

उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने शनिवार को बताया कि प्रदेश भर के हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में तीन प्रकार के कैंसर की स्क्रीनिंग कराई जा सकती है। इसमें स्तन कैंसर, मुँह और सर्वाइकल कैंसर शामिल हैं। इन सेंटरों में डॉक्टर लक्षण के आधार पर स्क्रीनिंग करेंगे। कैंसर की आशंका वाले मरीजों को हयर सेंटर भेजेंगे।

ब्रजेश पाठक ने बताया कि मुंह के छाले, सफेद परत या घाव आदि होने की दशा में डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। अत्याधिक रक्तस्राव होने की दशा में सर्वाइकल कैंसर की स्क्रीनिंग कराई जा सकती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कैंसर मरीजों को आधुनिक इलाज उपलब्ध कराया जा रहा है। आयुष्मान, असाध्य, कैंसर केयर आदि योजनाओं से काफी हद तक मुफ्त इलाज संभव है।

धूम्रपान न करें

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि 40 से 50 प्रतिशत कैंसर तम्बाकू व सिगरेट पीने की वजह से होते हैं। इसमें मुंह, फेफड़ा, किडनी का कैंसर शामिल है। तम्बाकू से तौबा कर काफी हद तक घातक कैंसर से बच सकते हैं।