मतदाता किसके बनेगें भग्यविधाता..!

68
मतदाता किसके बनेगें भग्यविधाता..!
मतदाता किसके बनेगें भग्यविधाता..!

देश में 19.74 करोड़ मतदाता युवा हैं। देश में 19.1 लाख लोग सर्विस इलेक्टर्स हैं। 2.18 लाख मतदाता 100 साल से ऊपर के हैं। देशभर में 48 हजार ट्रांसजेंडर मतदान करेंगे। चुनाव आयोग ने बताया, 85 साल से ज्यादा उम्र वाले मतदाताओं को घर से ही मतदान करने की सुविधा होगी। 55 लाख ईवीएम है। मतदाता किसके बनेगें भग्यविधाता..!

CEC ने की चुनाव की घोषणा, 7 चरणों में होगा इलेक्शन, 4 जून को आएंगे नतीजे, देश में 7 चरणों में चुनाव होगें। इसबार 97 करोड़ मतदाता इस बार मतदान करेंगे। देशभर में 10.50 लाख पोलिंग बूथ बनाए गए। पोलिंग के लिए 55 लाख EVM का प्रयोग होगा। 1.5 करोड़ कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जा रही। देश में 49.7 करोड़ पुरुष मतदाता हैं। जबकि 47.1 करोड़ महिला मतदाता हैं। इसबार 1.82 करोड़ लोग पहली बार मतदान करने जा रहे।

देशभर में 10.5 लाख से ज्यादा पोलिंग सेंटर। 55 लाख EVM से वोट डाले जाएंगे। पुरुष मतदाता- 49 करोड़ 72 लाख 31994। महिला मतदाता- 47 करोड़ 15 लाख 41888। लोकसभा चुनाव में ट्रांसजेंडर वोटर्स- 48 हजार 44। दिव्यांग वोटर्स- 88 लाख 35 हजार 449। जनसंख्या में मतदाता प्रतिशत- 66.76%। 18 से 19 साल के मतदाता- 1 करोड़ 80 लाख से ज्यादा। 100+ उम्र के मतदाता- 2 लाख 18 हजार। 2024 में 97 करोड़ वोटर्स, 2 करोड़ नए मतदाता जुड़े।

लोकसभा में बजट सत्र के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दावा किया कि वर्ष 2024 के चुनावों में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी को और ज्यादा सीटें मिलेंगी जबकि एनडीए इस बार 400 सीटों के पार जाएगा। भारत के 70 सालों के लोकतांत्रिक चुनावी प्रक्रिया में केवल एक बार ऐसा हुआ जब कोई पार्टी अपने बल पर 400 से ज्यादा सीटें जीतने में कामयाब हुई थी। इसके बाद या इसके पहले कभी कोई पार्टी ऐसा नहीं कर पाई। ये करिश्मा वर्ष 1984 के आम चुनावों में हुआ था।तब पूर्व प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के तुरंत बाद 1984 में देश में आम चुनाव हुए। कांग्रेस ने इस चुनावों में 541 में 414 सीटें जीती थीं। ये कांग्रेस की 1952 के पहले आम चुनावों के बाद से सबसे बड़ी जीत थी। ना तो कांग्रेस इससे पहले कभी इतनी शानदार जीत हासिल की थी, और ना ही इसके बाद हासिल कर पाई।

भारतीय लौकतांत्रिक चुनावी इतिहास में ये केवल एक बार ही हुआ है जब कोई पार्टी 400 सीटें जीत पाई।ये करिश्मा 1984 के आमचुनावों में हुआ जब कांग्रेस ने जीती थीं 400 से ज्यादा सीटें।उस चुनाव में किसी को उम्मीद नहीं थी जीत की सुनामी इस तरह सामने आएगी।

उस समय उत्तर प्रदेश में 85 लोकसभा सीट थी जिसमें यूपी में तब कांग्रेस ने 85 में 83 सीटें जीतीं। विपक्ष के सारे दिग्गजों के पैर उखड़ गए. जो दो सीटें यूपी में किसी पार्टी ने जीती थी,वो लोकदल थी, जिसमें एक सीट पर लोकदल प्रमुख चरण सिंह बागपत से जीते थे तो दूसरी सीट पर लोकदल एटा से विजयी हुई थी। जिस पर उसके प्रत्याशी मुहम्मद महफूज अली खान उर्फ प्यारे मियां थे।

6 अप्रैल 1980 को स्थापित हुई भारतीय जनता पार्टी ने 1984 में हुए लोकसभा चुनाव में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई। अटल बिहारी वाजपेयी की अध्यक्षता वाली इस पार्टी के लिए यह पहला चुनाव था। उसे सिर्फ 2 सीटों से संतोष करना पड़ा. अटल खुद चुनाव हार गए।

CEC ने की चुनाव की घोषणा, 7 चरणों में होगा इलेक्शन, 4 जून को आएंगे नतीजे। यूपी की 4 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होगा। 4, 5, 6 और 7वें चरण में यूपी में उपचुनाव होगा।

भारतीय चुनाव आयोग ने चुनाओ की घोषणा की कर दी। देश में 7 चरणों में चुनाव होगें। इसबार 97 करोड़ मतदाता इस बार मतदान करेंगे। देशभर में 10.50 लाख पोलिंग बूथ बनाए गए। पोलिंग के लिए 55 लाख EVM का प्रयोग होगा। 1.5 करोड़ कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जा रही। देश में 49.7 करोड़ पुरुष मतदाता हैं। जबकि 47.1 करोड़ महिला मतदाता हैं। इसबार 1.82 करोड़ लोग पहली बार मतदान करने जा रहे। चुनाव आयोग ने निर्देश दिया है कि प्रत्याशी को TV पर क्रिमिनल हिस्ट्री बतानी होगी। मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि हमारे पास डेढ़ करोड़ मतदाता और सुरक्षा अधिकारी हैं। 55 लाख ईवीएम है और चार लाख वाहन हैं।

चुनाव आयोग ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर..

मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि, पैसा बांटने वालों पर ED नजर रखेगी। किसी भी प्रकार की शिकायत के लिए 1950 पर कॉल करें। उन्होंने कहा कहा किसी भी अफवाह पर इलेक्शन कमीशन की नजर होगी। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से अपील की कि सोशल मीडिया पर फैलने वाले मिथ्या खबरों पर विश्वास न करें। पैसा बांटने वालों पर ED नजर रखेगी। मतदाता किसके बनेगें भग्यविधाता..!