जानें क्या बोले चंद्रशेखर आजाद

37
जानें क्या बोले चंद्रशेखर आजाद
जानें क्या बोले चंद्रशेखर आजाद

आपसे मुझे संरक्षण की उम्मीद,ओम बिरला को बधाई देते हुए बोले चंद्रशेखर आजाद जानें क्या बोले चंद्रशेखर आजाद

नई दिल्ली। ओम बिरला एक बार फिर से लोकसभा अध्यक्ष बन गए हैं।ओम बिरला को ध्वनिमत से नया अध्यक्ष चुना गया।ओम बिरला के अध्यक्ष चुने जाने के साथ ही पिछले कई दिनों से चल रहा घटनाक्रम भी खत्म हो गया।इसके साथ ही नए स्पीकर ओम बिरला को सभी सांसदों ने बधाई दी।बधाई देने वालों में उत्तर प्रदेश बिजनौर की नगीना लोकसभा से निर्वाचित आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) के सांसद भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद भी शामिल रहे। चंद्रशेखर ने बहुत ही अनोखे अंदाज में ओम बिरला को बधाई दी और उनको लोकतंत्र का रक्षक कहकर संबोधित किया। जानें क्या बोले चंद्रशेखर आजाद

चंद्रशेखर ने दी लोकसभा स्पीकर को बधाई

ओम बिरला को बधाई देते हुए चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि बहुत सारे सदस्यों ने आपकी तारीफ की।परेशानी आने पर आपने मेरा संरक्षण किया और मैं आपसे संरक्षण की उम्मीद करता हूं।मेरी ये भी प्रार्थना है कि आप लोकतंत्र के रक्षक हैं और प्रकृति आपको लोकतंत्र की रक्षा करने की ताकत प्रदान करें। बता दें कि चंद्रशेखर आजाद पहली बार चुनकर संसद पहुंचे हैं। चंद्रशेखर नगीना से सांसद है। चंद्रशेखर ने लोकसभा स्पीकर को बधाई देते हुए कहा कि हमारे वर्ग की हालात बहुत ही खराब है, अगर हमें मौका नहीं मिलेगा तो हम अपनी बात नहीं रख पाएंगे।

ध्वनिमत से चुने गए ओम बिरला

बता दें कि ओम बिरला को अध्यक्ष चुने जाने से पहले विपक्ष ने सुरेश को उम्मीदवार बनाया था।तब जानकारी सामने आई थी कि एनडीए ने आजाद समाज पार्टी कांशीराम के अध्यक्ष और नगीना से सांसद चंद्रशेखर से भी बात की है।सवाल ये भी उठा था कि क्या चंद्रशेखर एनडीए उम्मीदवार के समर्थन में वोट करेंगे।हालांकि ऐसी नौबत ही नहीं आई क्योंकि ध्वनिमत से ही ओम बिरला को नया अध्यक्ष चुन लिया गया। विपक्ष ने डिविजन की मांग ही नहीं की।वहीं भीम आर्मी चीफ ने लोकसभा अध्यक्ष से सहयोग की मांग की।

पहले ही दिन चंद्रशेखर ने दिखाए तीखे तेवर

लोकसभा में शपथ ग्रहण के दौरान चंद्रशेखर आजाद के तीखे तेवर भी देखे गए। चंद्रशेखर ने शपथ लेने के बाद नमो बुद्धाय, जय भीम, जय भारत, जय संविधान, जय जवान- जय किसान, लोकतंत्र जिंदाबाद, भारत की महान जनता जिंदाबाद के नारे लगाए।सांसदों की तरफ से आवाज उठी कि पूरा भाषण देंगे क्या, जिस पर चंद्रशेखर ने जवाब दिया कि देंगे,इसीलिए यहां आए हैं। चंद्रशेखर ने कहा कि कहने ही आए हैं। जानें क्या बोले चंद्रशेखर आजाद