सफलता के लिए अनुशासन जरूरी-योगी

87
सफलता के लिए अनुशासन जरूरी-योगी
सफलता के लिए अनुशासन जरूरी-योगी

जीवन के किसी क्षेत्र में सफलता के लिए अनुशासन जरूरी। मुख्यमंत्री ने किया एनसीसी ट्रेनिंग एकेडमी का भूमि पूजन एवं शिलान्यास। एनसीसी, एकता और अनुशासन का व्यावहारिक ज्ञान देने वाला दुनिया का सबसे बड़ा संगठन। सफलता के लिए अनुशासन जरूरी-योगी

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जीवन में अनुशासन के बिना कुछ भी नहीं हो सकता है। जीवन के किसी क्षेत्र में सफलता के लिए अनुशासन अनिवार्य है। अनुशासन आत्मानुशासन से पैदा होता है और यह जीवन भर सही मार्ग पर चलने की प्रेरणा देता है, मंजिल तक पहुंचाने का मार्गदर्शन करता है। इस दृष्टिकोण से युवाओं को अनुशासन का व्यावहारिक ज्ञान देने में एनसीसी की महत्वपूर्ण भूमिका है। गोरखपुर के सिक्टौर (तालकंदला) में एनसीसी (नेशनल कैडेट कोर) ट्रेनिंग एकेडमी का भूमि पूजन और शिलान्यास करने के बाद यहां आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। एनसीसी ग्रुप मुख्यालय गोरखपुर की ट्रेनिंग एकेडमी का निर्माण 10 एकड़ क्षेत्रफल में 55 करोड़ रुपये की लागत से किया जाएगा। शिलान्यास समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा कि 1948 में संसद के एक अधिनियम से गठित एनसीसी युवाओं को एकता और अनुशासन के लिए प्रेरित करने वाला दुनिया का सबसे बड़ा वर्दीधारी संगठन है। एनसीसी को आज के युवाओं के जीवन का हिस्सा बनाना पीएम मोदी का विजन है। पीएम के इस विजन को मिशन मोड पर आगे बढ़ाने के लिए गोरखपुर में एनसीसी ट्रेनिंग एकेडमी की स्थापना की जा रही है। यह एकेडमी एकता और अनुशासन की वह पाठशाला बनेगी जहां से सामाजिक एकता के माध्यम से राष्ट्रीय एकात्मकता को मजबूत किया जाएगा।

दो कदम आगे बढ़कर सहयोग करती है सरकार

मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि कोई व्यक्ति या संस्था की तरफ से प्रयास किया जाता है तो सरकार दो कदम आगे बढ़कर सहयोग करती है। एनसीसी ट्रेनिंग एकेडमी के लिए गोरखपुर मुख्यालय ने ऐसा ही प्रयास किया। देश की आबादी का सबसे बड़ा राज्य होने के चलते यूपी के लिए इस एकेडमी का अपना महत्व होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि एनसीसी ग्रुप मुख्यालय गोरखपुर में आने वाले 11 जिलों में से 4 जिले सिद्धार्थनगर, बलरामपुर, श्रावस्ती और बहराइच आकांक्षी जनपद हैं। एनसीसी एकेडमी में प्रशिक्षित युवा इन जिलों को विकसित बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

युवा कार्यशील पूंजी को मिलेगी राष्ट्र निर्माण की प्रेरणा

मुख्यमंत्री ने कहा कि यूपी की 56 प्रतिशत आबादी कामकाजी है। एनसीसी की ट्रेनिंग एकेडमी यहां की युवा कार्यशील पूंजी को राष्ट्र निर्माण में योगदान देने के लिए प्रेरित करेगी। उन्होंने कहा कि व्यक्ति का स्वयं कोई अस्तित्व नहीं होता है। खुद के लिए जीना, कोई जीवन नहीं होता बल्कि हमारे लिए देश सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए। देश के लिए समर्पण की भावना से ही एकता और अनुशासन का भाव आगे बढ़ता है।

रक्षा आवश्यकताओं में आत्मनिर्भर हो रहा देश

योगी ने कहा कि आज पूरी दुनिया में भारत का सम्मान बढ़ा है। रक्षा आवश्यकताओं के मामले में रक्षा उपकरणों के उत्पादन तथा डिफेंस कॉरिडोर के निर्माण से देश इस क्षेत्र में आत्मनिर्भरता के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आगे बढ़ रहा है। अत्याधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर से लेकर भारत के हार्ड और सॉफ्ट पावर को दुनिया महसूस कर रही है।

परिसर को रखें हराभरा, चलाएं स्वच्छता अभियान

मुख्यमंत्री ने एनसीसी ट्रेनिंग एकेडमी का निर्माण कार्य समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश देते हुए यहां के परिसर को भरपूर पौधरोपण से हराभरा बनाने का आह्वान किया। साथ ही इसे प्लास्टिक मुक्त, प्रदूषण मुक्त बनाने की अपील की। उन्होंने कहा कि रेगुलर ट्रेनिंग ड्रिल के साथ कैडेटों को सप्ताह में एक दिन स्वच्छता अभियान से अनिवार्य रूप से जोड़ा जाए। इससे बीमारियों से बचाव होगा और माटी से आत्मीयता भी बढ़ेगी। सीएम ने कहा कि स्वच्छता से बीमारियों से बचाव का सबसे बड़ा उदाहरण इंसेफेलाइटिस पर विजय है।

यूपी का भविष्य संवारने को रोज 18 घंटे काम करते हैं मुख्यमंत्री योगी-रविकिशन

एनसीसी ट्रेनिंग एकेडमी के शिलान्यास समारोह में सांसद रविकिशन ने कहा कि यूपी का विकास और यहां के लोगों का भविष्य संवारने के लिए सीएम योगी प्रतिदिन 18 घंटे कार्य करते हैं। उन्होंने गोरखपुर को विकास के नक्शे पर चमका दिया है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए विधायक विपिन सिंह ने कहा कि सीएम योगी के मार्गदर्शन में गोरखपुर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र को लगातार एक से बढ़कर एक सौगात मिल रही है। एनसीसी के अपर महानिदेशक मेजर जनरल विजय विक्रम कुमार ने एनसीसी परिवार की तरफ से सीएम योगी का स्वागत किया और एनसीसी की गतिविधियों पर प्रकाश डाला। एनसीसी के ग्रुप कमांडर ब्रिगेडियर दीपेंद्र रावत ने एनसीसी ट्रेनिंग एकेडमी की स्थापना के उद्देश्यों पर विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर महापौर डॉ. मंगलेश श्रीवास्तव, विधायक श्रीराम चौहान, फतेह बहादुर सिंह राजेश त्रिपाठी, महेंद्रपाल सिंह, प्रदीप शुक्ल, भाजपा के जिलाध्यक्ष युधिष्ठिर सिंह, महानगर अध्यक्ष राजेश गुप्ता आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री ने एकेडमी के मॉडल का भी अवलोकन किया

भूमि पूजन के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एनसीसी के ट्रेनिंग एकेडमी के मॉडल का भी अवलोकन किया। इसका निर्माण कंस्ट्रक्शन एंड डिजाइन सर्विसेज, जल निगम, यूनिट-42, गोरखपुर द्वारा कराया जाएगा। एकेडमी में प्रशासनिक भवन, 150 छात्रों की क्षमता के बालक छात्रावास, 100 छात्राओं की क्षमता के बालिका छात्रावास, डायनिंग हाल, टायलेट ब्लाक, विद्युत स्टेशन, आउटडोर मल्टीएक्टिविटिज एरिया, 50 मीटर के आउटडोर शूटिंग रेंज, ड्रिल प्रैक्टिस पथ, फुटबाल फील्ड, आप्टिकल कोर्स एवं पुशप बीम आदि की सुविधा होगी। एकता और अनुशासन आदर्श वाक्य वाले एनसीसी ग्रुप गोरखपुर, उत्तर प्रदेश के पूर्वी भाग के 11 जिलों का प्रतिनिधित्व करता है। इसमें देवरिया, कुशीनगर, गोरखपुर, महराजगंज, सिद्धार्थनगर, बस्ती, संतकबीरनगर, गोडा, बलरामपुर श्रावस्ती एवं बहराइच शामिल हैं। सफलता के लिए अनुशासन जरूरी-योगी