पेपर लीक वहाँ भाजपा है जहाँ-वंशराज दुबे

41
पेपर लीक वहाँ भाजपा है जहाँ-वंशराज दुबे
पेपर लीक वहाँ भाजपा है जहाँ-वंशराज दुबे

पेपर लीक वहाँ,भाजपा है जहाँ। पेपर लीक मामले पर आप ने निकाली शिक्षा मंत्रालय की अर्थी। भाजपा ने करोड़ो पेपर लीक करा कर छात्रों-युवाओं के भविष्य किया बर्बाद। पेपर लीक के मुद्दे पर आप की छात्र विंग पूरे प्रदेश में करेगी आंदोलन। पेपर लीक वहाँ भाजपा है जहाँ-वंशराज दुबे

लखनऊ। पेपर लीक का मामला इन दिनों सुर्खियों में बना हुआ है। आज उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आम आदमी पार्टी की छात्र विंग (सीवाईएसएस) ने प्रदेश अध्यक्ष वंशराज दुबे के नेतृत्व में देश के शिक्षा मंत्रालय और परीक्षा कराने वाली एजेंसी एन टी ए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और शिक्षा मंत्रालय की अर्थी निकाली. आप कार्यकर्ता प्रदेश कार्यालय गोमती नगर से मुख्यमंत्री आवास की तरफ जा रहे थे तभी पुलिस ने रास्ते मे बैरिकेड लगाकर रोक लिया इस दौरान कार्यकर्ताओं और पुलिस में नोंकझोंक और झड़प भी हुई।

प्रदेश अध्यक्ष वंशराज दुबे ने कहा कि पेपर लीक वहाँ वहां हुआ है जहां भाजपा की सरकार है.भाजपा ने पेपर लीक करा कर करोड़ों छात्रों-युवाओं का भविष्य बर्बाद कर दिया है। पेपर लीक के मुद्दे पर आप की छात्र विंग पूरे प्रदेश में आंदोलन करेगी।वंशराज दुबे ने कहा केंद्र सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि NEET Exam मोदी सरकार का घोटाला है ,इस घोटाले से करोड़ों छात्रों का भविष्य बर्बाद हुआ है।

  • 720 नंबर 67 बच्चों को, टॉप कर गए एक साथ क्या ये संभव है….?
  • एक छात्र जिसको इंटर की परीक्षा में फिजिक्स में एक नंबर मिल रहा Neet में उसे 720 नंबर मिल रहा क्या ये संभव है….?
  • जब 14 जून को परिणाम आने थे तो आपने 4 जून को जब चुनावी परिणाम आने थे तब परिणाम क्यों घोषित किए….?

ये सारे प्रश्न हैं जो चिल्ला चिल्ला कर कह रहे हैं की NEET में घोटाला और घपला हुआ है, ये एक्जाम रद्द होना चाहिए और जो लोग इसमें जिम्मेदार हैं उन्हें सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए।प्रदर्शन में छात्र विंग के प्रदेश महासचिव अनित रावत, अरूण वर्मा, अंशुल यादव, नीलेश चतुर्वेदी, डब्लू यादव,आशीष,अभिषेक, दिलशाद, अमन सोनी, चंद्रजीत यादव, विशेष समेत तमाम लोग मौजूद रहे।

नीट यूजी परीक्षा तत्काल रद्द हो। पीएम मोदी से मांग एनटीए चेयरमैन को बर्खास्त करे सरकार। शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान इस्तीफा दें।

चौतरफा दबाव के बाद सीबीआई जांच कराने और नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) के महानिदेशक को हटाने का फैसला लिया गया है। लेकिन नीट यूजी पेपर लीक , यूजीसी-नेट पेपर लीक, सीएसआईआर यूजीसी-नेट परीक्षा स्थगित करने जैसे तमाम विवादों में नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ( एनटीए) के चेयरमैन पर किसी तरह कार्रवाई न किया जाना समझ से परे है। जब कि संस्था हेड होने के नाते मुख्य तौर पर वही जवाबदेह हैं। सवाल उठ रहा है कि क्या चेयरमैन को राजनीतिक रसूख की वजह से बचाया जा रहा है ? फिलहाल अभी तक शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) को क्लीन चिट देते हुए पेपर लीक व धांधली के आरोपों को एक सिरे से खारिज करते आए हैं। शिक्षा मंत्री व एनटीए चेयरमैन के पद पर रहते हुए छात्रों को न्याय की उम्मीद कतई नहीं है। युवा मंच ने शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान से इस्तीफा देने और एनटीए चेयरमैन को बर्खास्त करने की मांग की है। इसी परिप्रेक्ष्य में लाखों छात्रों के भविष्य व स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता से जुड़े इस मुद्दे पर पीएम मोदी से तत्काल हस्तक्षेप का आग्रह किया गया है। इस बाबत युवा मंच संयोजक राजेश सचान ने एक्स हैंडल पर पोस्ट कर पीएम मोदी से नीट यूजी परीक्षा तत्काल रद्द करने,चयन संस्थाओं को पारदर्शी व जवाबदेह बनाने, शिक्षा माफियाओं पर प्रभावी कार्रवाई और केंद्रीय विभागों में रिक्त पड़े करीब 10 लाख पदों को पारदर्शी ढ़ंग से समयबद्ध भर्ती सुनिश्चित करने की मांग की। पेपर लीक वहाँ भाजपा है जहाँ-वंशराज दुबे