इंप्लॉयमेंट जेनरेट करने वाला सेक्टर बन रहा एफएमसीजी

145
इंप्लॉयमेंट जेनरेट करने वाला सेक्टर बन रहा एफएमसीजी
इंप्लॉयमेंट जेनरेट करने वाला सेक्टर बन रहा एफएमसीजी

फास्ट इंप्लॉयमेंट जेनरेट करने वाला सेक्टर बन रहा एफएमसीजी। एफएमसीजी सेक्टर में बड़े पैमाने पर धरातल पर उतर रहा निवेश,युवाओं को आकर्षित करेंगे रोजगार के अवसर। वरुण बेवरेजेस पूर्वांचल, बुंदेलखंड और मध्यांचल में अपने प्रोजेक्ट के जरिए 1500 से अधिक रोजगार प्रदान करेगा। मून बेवरेजेस भी अत्याधुनिक तकनीक वाले मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के जरिए देगा 750 से ज्यादा लोगों को नौकरियां। भारतीय बेवरेजेज और रिलायंस रिटेल का ज्वॉइंट वेंचर्स अपने प्रोजेक्ट के जरिए उपलब्ध कराएगा 500 से अधिक रोजगार। बालाजी वेफर्स हरदोई में इंटीग्रेटेड फूड प्रॉसेसिंग यूनिट के माध्यम से 1500 नौकरियों के अवसर करेगा सृजित। इंप्लॉयमेंट जेनरेट करने वाला सेक्टर बन रहा एफएमसीजी

लखनऊ। फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स यानी एफएमसीजी उत्तर प्रदेश में फास्ट इंप्लायमेंट जेनरेट करने वाला सेक्टर बनने की राह पर है। एफएमसीजी सेक्टर के तहत देश और दुनिया के कई बड़े लीडर्स उत्तर प्रदेश के बड़े बाजार में खुद को उतारने के लिए तैयार हैं। हाल ही में संपन्न हुई ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी (जीबीसी 4.0) के तहत इस सेक्टर में हजारों करोड़ रुपए का निवेश हुआ है, जो व्यापक पैमाने पर रोजगार को सृजित कर इस सेक्टर में भविष्य बनाने के लिए यूपी के युवाओं को आकर्षित करेगा।

सॉफ्ट ड्रिंक्स, फ्रूट जूस से मिलेंगे हजारों रोजगार

एफएमसीजी सेक्टर में जो बड़े इन्वेस्टमेंट्स जीबीसी 4.0 के माध्यम से धरातल पर उतरे हैं, उनमें वरुण बेवरेजेज लिमिटेड का प्रोजेक्ट भी शामिल है। इसने पूर्वांचल, बुंदेलखंड और मध्यांचल क्षेत्रों (प्रयागराज, गोरखपुर, अमेठी, चित्रकूट) में फ्रूट पल्प, फ्रूट जूस आधारित ड्रिंक्स, बेवरेजेस पर आधारित सिरप और पैकेजिंग प्रोडक्ट्स के प्रोडक्शन के लिए मैन्युफैक्चरिंग प्लांट विकसित करने के लिए 3500 करोड़ रुपए का निवेश किया है। इससे 1500 से अधिक रोजगार के अवसर पैदा होने का अनुमान है। इसी तरह, मून बेवरेजेज लिमिटेड ने हापुड़ (पश्चिमांचल) में कार्बोनेटेड सॉफ्ट ड्रिंक्स और जूस बनाने के लिए एक इंटीग्रेटेड ग्रीनफील्ड फैक्ट्री स्थापित करने हेतु 756 करोड़ रुपए का निवेश किया है। अत्याधुनिक तकनीक के माध्यम से तैयार किए जाने वाली यह अत्याधुनिक मैन्युफैक्चरिंग फैक्ट्री 752 से अधिक नौकरियां सृजित करेगी।


एयर कार्गो टर्मिनल 5000 लोगों को देगा रोजगार

एविएशन इंडस्ट्री भी बड़े पैमाने पर प्रदेश में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने जा रही है। इस सेक्टर में सबसे बड़ा निवेश एयर इंडिया एसएटीएस एयरपोर्ट सर्विसेज प्रा. लि. द्वारा किया जा रहा है। यह कंपनी गौतम बुद्ध नगर जिले (पश्चिमांचल) में 4 हजार करोड़ रुपए का निवेश करके एक एयर कार्गो टर्मिनल और लॉजिस्टिक्स पार्क स्थापित करने की प्रक्रिया में आगे बढ़ रही है, जिसका लक्ष्य 5000 से अधिक रोजगार के अवसर पैदा करना है। जेवर एयरपोर्ट के पास बनने वाला यह एयर कार्गो टर्मिनल जल्द तैयार होगा और देश और विदेश के अंदर इसके माध्यम से बड़े पैमाने पर व्यापार संभव हो सकेगा।

एडिशनल एफएमसीजी भी सृजित कर रहा रोजगार

एफएमसीजी के अतिरिक्त एडिशनल एफएमसीजी सेक्टर में भी बड़े पैमाने पर निवेश हो रहा है। इसके तहत यूपी में लग रहे प्रोजेक्ट्स के अंतर्गत भारतीय बेवरेजेज प्राइवेट लिमिटेड और रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड के ज्वॉइंट वेंचर्स ने मुजफ्फरनगर (पश्चिमांचल) में 600 करोड़ रुपए का निवेश किया है, इस निवेश से क्षेत्र में 500 से अधिक नौकरियों के अवसर पैदा हो रहे हैं। वहीं, बालाजी वेफर्स प्राइवेट लिमिटेड ने हरदोई (मध्यांचल) में इंटीग्रेटेड फूड प्रॉसेसिंग यूनिट स्थापित करने के लिए 500 करोड़ रुपए का निवेश धरातल पर उतारा है, जिससे 1500 नौकरियों के अवसर पैदा होंगे। इसके अतिरिक्त एसएलएमजी, ग्रुपो बिम्बो, बीकानेरवाला, हल्दीराम, हैप्पीलो, वीकेसी नट्स समेत कई अन्य कंपनियां भी एफएमसीजी सेक्टर में हजारों करोड़ रुपए का निवेश कर रही हैं। इंप्लॉयमेंट जेनरेट करने वाला सेक्टर बन रहा एफएमसीजी