Tuesday, July 23, 2024
Advertisement
Home राष्ट्रीय

राष्ट्रीय

संवैधानिक रूप से भारत सरकार ने 26 जनवरी, 1950 को अशोक स्तंभ को अपना राष्ट्रीय चिन्ह अपनाया था। इसे शासन,संस्कृति और शांति का सबसे बड़ा प्रतीक माना गया था। अशोक स्तंभ को संस्कृति और शांति का सबसे बड़ा प्रतीक माना गया।

    अन्तर्राष्ट्रीय स्तर बसे विविध पृष्‍ठभूमियों के भारतीय इन राष्‍ट्रीय प्रतीकों पर गर्व करते हैं। प्रत्‍येक भारतीय के हृदय में गौरव और देश भक्ति की भावना का संचार करते हैं।भारतीय पहचान और विरासत का मूलभूत हिस्‍सा हैं।

प्रधानमंत्री संसद भवन की नई बिल्डिंग की छत पर करीब 20 फीट ऊंचे कांसे के राष्ट्रीय चिन्ह अशोक स्तंभ का अनावरण किया। राष्ट्रीय प्रतीक भारतीय पहचान और विरासत का मूलभूत हिस्सा हैं।

विश्व भर में बसे विविध पृष्ठभूमियों के भारतीय इन राष्ट्रीय प्रतीकों पर गर्व करते हैं। क्योंकि वे प्रत्येक भारतीय के हृदय में गौरव और देश भक्ति की भावना का संचार करते हैं। भारत का राजकीय प्रतीक है अशोक चिह्न। इसको सारनाथ स्थित राष्ट्रीय स्तंभ का शीर्ष भाग राष्ट्रीय प्रतिज्ञा चिह्न के रूप में लिया गया है।

मूल रूप इसमें चार शेर हैं जो चारों दिशाओं की ओर मुंह किए खड़े हैं। इसके नीचे एक गोल आधार है जिस पर एक हाथी के एक दौड़ता घोड़ा, एक सांड़ और एक सिंह बने हैं।

विश्‍व की प्राचीन सभ्यताओं में से भारतीय सभ्यता एक है। जिसमें बहुरंगी विविधता और समृद्ध सांस्‍कृतिक विरासत है। भारतीय सभ्यता बदलते समय के साथ अपने-आप को ढ़ालती भी आई है।

आज़ादी पाने के बाद भारत ने बहुआयामी सामाजिक और आर्थिक प्रगति की है।भारत कृषि में आत्‍मनिर्भर बन चुका है और अब दुनिया के सबसे औद्योगीकृत देशों की श्रेणी में भी इसकी गिनती की जाती है। विश्‍व का सातवां बड़ा देश होने के नाते भारत शेष एशिया से अलग दिखता है।

 

निराशाजनक है बजट-अमरनाथ मिश्रा
बिहार को नहीं मिलेगा विशेष राज्य का दर्जा
बिहार को नहीं मिलेगा विशेष राज्य का दर्जा
MSME भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़-मांझी
MSME भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़-मांझी
‘मेक इन इंडिया’ पहल और आत्मनिर्भरता महत्वपूर्ण-संजय सेठ
‘मेक इन इंडिया’ पहल और आत्मनिर्भरता महत्वपूर्ण-संजय सेठ
परीक्षा में सुरक्षा की कमजोर कड़ियां
डिफेंस कॉरिडोर में वर्ल्ड क्लास इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलप कर रही योगी सरकार
डिफेंस कॉरिडोर में वर्ल्ड क्लास इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलप कर रही योगी सरकार
आपदा पीड़ितों के संकट मोचक बने योगी
आपदा पीड़ितों के संकट मोचक बने योगी
लौटनराम निषाद
सामाजिक न्याय के लिए जाति जनगणना आवश्यक-लौटनराम निषाद
यूपीएससी में क्या है आरक्षण नियमावली..?
25 जून को 'संविधान हत्या दिवस'-गृह मंत्री
25 जून को 'संविधान हत्या दिवस'-गृह मंत्री

किसान धान की फसल में लगने वाले कीटों/रोगो से फसल...

0
किसान भाई धान की फसल में लगने वाले 05 कीटों/रोगो से अपनी फसल को बचाये। प्रतापगढ़, जिला कृषि रक्षा...

शोक

Breaking News

लौटनराम निषाद

अनारक्षित का मतलब सवर्ण के लिए आरक्षित नहीं-लौटन राम निषाद

0
अनारक्षित का मतलब सवर्ण के लिए आरक्षित नहीं-लौटन राम निषाद

निराशाजनक है बजट-अमरनाथ मिश्रा

0
निराशाजनक है बजट-अमरनाथ मिश्रा
नई स्थानांतरण नीति में दिव्यांग कार्मिकों को राहत

विकसित भारत निर्माण का बजट-योगी

0
विकसित भारत निर्माण का बजट-योगी

सब्जी तोड़ने गया कैदी फरार

0
सब्जी तोड़ने गया कैदी फरार
मुख्यमंत्री ने वाराणसी के सर्किट हाउस में की समीक्षा

मुख्यमंत्री ने वाराणसी के सर्किट हाउस में की समीक्षा

0
मुख्यमंत्री ने वाराणसी के सर्किट हाउस में की समीक्षा